जब पुरानी पेंशन रोकी गई तब उनके 'अब्बाजान' ही मुख्यमंत्री थे: Yogi Adityanath
जब पुरानी पेंशन रोकी गई तब उनके 'अब्बाजान' ही मुख्यमंत्री थे: Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Slams Opposition: उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव जैसे जैसे करीब आ रहे हैं, वैसे वैसे ही आरोप प्रत्यारोप का दौर भी बढ़ता जा रहा है। इसी क्रम में रविवार को यूपी के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath (योगी आदित्यनाथ) ने गाज़ियाबाद में अपने विरोधियों और मुख्यत: Samajwadi Party (समाजवादी पार्टी) के अध्यक्ष Akhilesh Yadav (अखिलेश यादव) पर जमकर ज़ुबानी हमले किए।

जब पुरानी पेंशन रोकी गई थी तब इनके ‘अब्बाजान’ ही मुख्यमंत्री थे: Yogi Adityanath (योगी आदित्यनाथ)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने, हाल ही मे अखिलेश यादव द्वारा घोषित 2005 से पहले वाली पेंशन योजना बहाल करने वाले वादे पर हमला बोलते हुए कहा की,

वो कहते हैं कि पुरानी पेंशन बहाल करेंगे, जब पुरानी पेंशन रोकी गई थी तब उन्हीं के ‘अब्बाजन’ ही मुख्यमंत्री थे और उसके बाद 4 वर्षों तक मुख्यमंत्री रहे।   फिर 5 वर्षों तक उन्हे (अखिलेश यादव) को स्वंय मुख्यमंत्री बनने का अवसर प्राप्त हुआ  लेकिन प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों के लिए उनके पास कोई सोच नहीं थी ।

आगे उन्होंने कहा, “वो (अखिलेश यादव) आज कह रहे हैं कि 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे। उनसे पूछा जाना चाहिए कि जब वह सत्ता में थे तब तो बिजली ही नहीं देते थे क्योंकि चाँदनी रात चोरों को अच्छी नहीं लगती। जब बिजली ही नहीं आएगी तो बिजली फ्री करने की बात वो कैसे करते हैं”?

2017 से पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भय का माहौल था: योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम के दौरान आगे कहा की “2017 से पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में क्या स्थिति थी। हर तरफ भय का माहौल था। कहीं-कहीं तो शाम होते ही कर्फ्यू सा द्रश्य हो जाता था, हर दूसरे तीसरे डि कोई ना कोई दंगा होता था और माफिया सत्ता के संरक्षण में किसी की भी भूमि पर कब्ज़ा कर लेते थे”।

इतना ही नहीं आगे उन्होंने कहा की, “हमने 5 लाख सरकारी नौकरी दी। उनकी सरकार में सरकारी नौकरी निकली थी तो चाचा- भतीजा झोला उठाकर वसूली के लिए निकल पड़ते थे”


ALSO READ| RRR Release Date Announced: Might Hit The Theatres on 18 March or 28 April

+ posts