टोक्यो ओलंपिक में भारत की भागीदारी 7 अगस्त को समाप्त हो जाएगी लेकिन भारत अभी भी इन खेलों में पदक हासिल करके इसे अपना सर्वश्रेष्ठ ओलिंपिक अभियान बना सकता है।

पूरे देश की नज़र कल नीरज चोपड़ा पर होंगी। आपको बता दें कि 2018 के एशियन गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट, जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक के क्वालिफिकेशन राउंड में ग्रुप A में पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर तक भाला फेक के आसानी से फाइनल में प्रवेश कर लिया था।

Tokyo 2020: इन खेलों में  भारत को अभी भी पदक की उम्मीद।
Indian Javelin Thrower Neeraj Chopra

पदक के दूसरे उम्मीदवार हैं पहलवान बजरंग पुनिया। 6 अगस्त को बजरंग को पुरुष फ्रीस्टाइल रेसलिंग के 65 किलो वर्ग के सेमी फाइनल में ईरान के हाजी अलियेव से हार का सामना करना पड़ा था। अब 7 अगस्त शनिवार को पूरे भारत के साथ साथ बजरंग की भी निगाहें कांस्य पदक के मैच पर होंगी।

Tokyo 2020: इन खेलों में  भारत को अभी भी पदक की उम्मीद।
Indian Wrestler Bajrang Punia

महिला गोल्फर अदिति अशोक, जो 3 राउंड के खेल के बाद फिलहाल दूसरे स्थान पर हैं, कल अपना चौथा एवम् अंतिम राउंड खेल रही होंगी जिसमें उन्हें 18 होल मिलेंगे। अगर वो कल के दिन भी अपनी ये लय बरकरार रखती हैं, तो यकीनन भारत की पहली ओलंपिक मेडलिस्ट गोल्फर बन जाएंगी।

Tokyo 2020: इन खेलों में  भारत को अभी भी पदक की उम्मीद।
Indian Golfer Aditi Ashok

आपको बता दें कि अभी तक टोक्यो ओलंपिक में भारत की पदक तालिका में कुल 5 पदक आए हैं, जिनमें 2 रजत और 3 कांस्य पदक शामिल हैं। 2012 के लंदन ओलंपिक में भारत ने 6 पदक हासिल किए थे, लेकिन अगर ये तीन खिलाड़ी पदक जीत जाते हैं, तो ये भारत का सबसे सर्वश्रेष्ठ ओलिंपिक प्रदर्शन होगा।

 

faraz
Faraaz
Journalism Student | iamfhkhan@gmail.com | + posts

Faraaz is pursuing Mass Communication & Journalism from BBD University Lucknow.