Special Ops 1.5 Review: पिछले सीज़न के सामने फीका है या कड़क है ये सीज़न?
Special Ops 1.5 Review: पिछले सीज़न के सामने फीका है या कड़क है ये सीज़न?

Special Ops 1.5 Review: पूरे डेढ़ साल के इंतिज़ार के बाद Disney+Hotstar ने Special Ops का अगला सीज़न, Special Ops 1.5: The Himmat Story रिलीज़ कर दिया है। जिन्होंने पहला सीज़न देखा था, उन्हें ये बताने की ज़रूरत नही की Special Ops का पहला सीज़न किस दर्जे का था और किस ढंग से उसे परदे पर उतारा गया था और जिन्होंने Special Ops 1.5 देख लिया है उन्हें  भी पता होगा की नया सीज़न किस दर्जे का है। चलिए हम आपको बताते हैं की ये सीज़न पिछले वाले के सामने फीका है या मीठा।

Special Ops 1.5 Cast: Kay Kay Menon, Vinay Pathak, Aftab Shivdasani, Parmeet Sethi, Adil Khan, Aishwarya Sushmita, Gautami Kapoor.

Special Ops 1.5 Director: Neeraj Pandey, Shivam Nair.

Our Rating of Special Ops 1.5: Three Stars.

Trailer of Special Ops 1.5: The Himmat Story:

Special Ops 1.5: The Himmat Story: सीज़न 1 की तरह इस सीज़न को भी Neeraj Pandey (नीरज पांडे) और Shivam Nair (शिवम नायर) ने मिल कर डायरेक्ट किया है। जैसा की सभी को टाइटल से समझ जाना चाहिए की टाइटल के लास्ट में साफ लिखा है The Himmat Story इसलिए ये ज़ाहिर हो जाता है की इस सीज़न की पूरी कहानी Himmat Singh (हिम्मत सिंह) के इर्द गिर्द ही घूमेगी। आपको बता दें की पिछले साल सीज़न 1 की सफलता के बाद Neeraj Pandey (नीरज पांडे) ने कहा था Special Ops का अगला सीजन 1.5 होगा, फिर उसके बाद Special Ops Season 2 बनाया जाएगा। इसलिए जनता जो इसे Special Ops का सीज़न 2 समझ के नहीं देखना चाहिए।

Storyline: [Special Ops 1.5 Review]:

सीरीज़ की स्टोरी लाइन कुछ यूं है की जैसे पिछली बार Himmat Singh (हिम्मत सिंह) कहानी को चड्ढा और बैनर्जी को narrate करता है तो इस बार अब्बास शेख (Abbas Sheikh) चड्ढा और बैनर्जी को हिम्मत सिंह के एक जाँबाज RAW एजेंट हिम्मत सिंह बनने की कहानी शुरुआत से बताता है। पार्लियामेंट अटैक के बाद क्या होता है हिम्मत सिंह के साथ और फिर RAW कैसे उसे एक नए मिशन के लिए वापस बुलाती है जो की honey trap से जुड़ा है। ये सब आपको दिखने वाला है इस बार। देखा जाए तो पूरी कहानी सिर्फ honey trap और Himmat Singh (हिम्मत सिंह) के ऊपर ही गड़ी गया है। पिछली बार विलन इखलाक खान था तो इस बार विलन है मनिन्दर सिंह जो RAW का ही एक बागी एजेंट है।

Writing & Direction:

Special Ops 1.5 को लिखा है Neeraj Pandey (नीरज पांडे), Deepak Kingrani (दीपक किंगरानी) और Benazir Ali Fida (बेनज़ीर अली फिदा) ने। इस बार सच कहा जाए तो कहानी पिछले सीज़न के मुकाबले काफी फीकी साबित होती है। लेकिन ऐसा भी नहीं है की ये देखने लायक भी नहीं है। कहानी आगे बढ़ते हुए आपको थोड़ा predictable लग सकती है लेकिन इसमे काफी surprising twists भी हैं जिन्हें आप मिस नहीं कर सकते। हो सकता है आपको थोड़ी बोरियत लगने लगे, लेकिन क्लाइमैक्स आते आते वो भी बैलन्स हो जाएगा। हामारे हिसाब से जो इस सीज़न का concept था उसके मुताबिक कहानी सही है क्योंकि इस बार फोकस Himmat Singh पर करना था।

डाइरेक्शन की बात करें तो इस बार नीरज पांडे और शिवम नायर ने काम अच्छा किया है लेकिन पिछले सीज़न से अच्छा नहीं। ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि इस बार एपिसोड कम थे। लेकिन इस डायरेक्टर जोड़ी की तारीफ करनी होगी की इन्होंने Kay Kay Menon का अभिनय काफी बड़िया तरीके से दर्शाया है और स्क्रिप्ट थोड़ी कमज़ोर होने के बावजूद शो को engaging बनाए रखा। हालांकि, इस सीज़न में ऐसे काफी कम scenes हैं ,जो शो पूरा देखने के बाद भी लोगों के दिमाग में बसे रहें।

Special Ops 1.5: The Himmat Story का एक द्रश्य :
Special Ops 1.5: The Himmat Story का एक द्रश्य :

Acting:

Kay Kay Menon: ये बताने की ज़रूरत नहीं की पिछले सीज़न की तरह इस सीज़न की जान कौन है। शो देख कर ऐसा लगता है मानो की Kay Kay Menon सच में RAW agent Himmat Singh हैं। उनकी ऐक्टिंग एकदम natural रही की आप कही से उसमे कोई कमी नहीं निकाल सकते। Himmat Singh को जाँबाज़ Himmat Singh बनने में किन परिसतिथियों से गुज़रना पड़ा इसे Kay Kay ने परदे पर जिया है। पूरी कहानी का फोकस खुद पर केंद्रित होने के बावजूद Kay Kay Menon कहीं भी डगमगाए नहीं। हालांकि जवान दिखने के लिए prosthetic में रहने के कारण कहीं-कहीं उनका चेहरा थोड़ा अटपटा लगता है लेकिन उनकी ऐक्टिंग के कारण इसे नज़रंदाज़ भी किया जा सकता है।

Special Ops 1.5: The Himmat Story का एक द्रश्य :
Special Ops 1.5: The Himmat Story का एक द्रश्य :

Vinay Pathak और अन्य किरदार: अब अगर बात करें Vinay Pathak की तो उन्होंने भी Himmat Singh के भरोसेमंद और खास, Abbas Sheikh के रूप में दमदार अभिनय किया है। Vinay Pathak के पास कुछ खास करने को था नहीं लेकिन फिर भी उन्हें जितना स्क्रीन स्पेस मिला उसका उन्होंने भरपूर इस्तेमाल किया।

अब बात करते हैं Aftab Shivdasani की। एक बात तो कहनी होगी की Aftab को Special Ops 1.5 से वापसी का एक अच्छा मौका मिला लेकिन उनका किरदार इतना दमदार नहीं था की लोग उसे देख कर तालियाँ बजाएँ। बेशक उन्होंने अपना काम ईमानदारी से निभाया लेकिन डायरेक्टर चाहते तो इस किरदार के लिए किसी छोटे ऐक्टर को भी ले सकते थे।

Adil Khan ने भी अपने अभिनय से काफी प्रभावित किया है। एक गुस्सैल और बागी RAW agent का किरदार उन्होंने काफी अच्छे ढंग से निभाया है। पिछले सीज़न के विलन के मुकाबले Adil का किरदार ज़्यादा बड़ा नहीं है। हालांकि, Action scenes मे वो काफी जँचे हैं और उनके और Kay Kay Menon के बीच की टक्कर इस शो का सबसे बड़ा प्लस पॉइंट है।

Parmeet Sethi और Kali Prasad Mukherjee का किरदार इस बार भी वही है उसमें कुछ नया नहीं है। हालांकि दोनों की जुगलबंदी देखते ही बनती है।

Cinematography & Background Score:

Cinematography का ज़िम्मा Sudheer Palsane और Arvind Singh के ज़िम्मे था और उन्होंने निराश नहीं किया। काफी जबरदस्त cinematography का प्रदर्शन किया है दोनों ने। शॉट सिलेक्शन लाजवाब हैं और एक्शन scenes काफी शानदार तरीके से फिल्माए गए हैं।

Background Score दिया है Advait Nemlekar ने और उनकी तारीफ करनी होगी की उन्होंने एक espionage spy थ्रिलर सीरीज़ में काफी बड़िया बैकग्राउंड स्कोर दिया है जो की शो के मुताबिक काफी फिट बैठता और कई धुन आपके कानों को पसंद भी आ सकती हैं।

Final Verdict: कुल मिलाकर Special Ops 1.5, Special Ops के सामने फीका ही है यानि उससे कम बेहतर। हम इसे खराब भी नहीं कह सकते उसकी वजह है Kay Kay Menon का अभिनय और पिछले सीज़न के कहानी आगे बढ़ने का क्रेज़। ये सच है की पहला सीज़न ज़्यादा बेहतर था लेकिन अगर आप इसे season 2 समझ के judge कर रहे हैं तो ये गलत है क्योंकि ये season 1.5 है ना की season 2:


Also Read| Sardar Udham Review: विकी कौशल और शुजित सरकार की यह फिल्म समझाएगी सरदार उधम सिंह का महत्व :

 

 

faraz
Faraaz
Journalism Student | iamfhkhan@gmail.com | + posts

Faraaz is pursuing Mass Communication & Journalism from BBD University Lucknow.