लोकपाल की वेबसाईट का हुआ उद्घाटन

लोकपाल की वेबसाइट का उद्घाटन गुरुवार को लोकपाल के सभी सदस्यों की उपस्थिति में न्यायमूर्ति श्री पिनाकी चंद्र घोष ने किया. यह भ्रष्टाचार विरोधी लोकपाल के कामकाज के बारे में बुनियादी जानकारी प्रदान करता है.

वेबसाइट एनआईसी (NIC) द्वारा विकसित की गई है और लोकपाल के कामकाज के संबंध में बुनियादी जानकारी प्रदान करती है। वेबसाइट देखने के लिए यहा क्लिक कर सकते हैं http://lokpal.gov.in

लोकपाल स्वतंत्र भारत में अपनी तरह का पहला संस्थान है, जिसे लोकपाल और लोकायुक्त अधिनियम, 2013 के तहत स्थापित किया गया है. जो उपरोक्त अधिनियम के दायरे में आने वाले सार्वजनिक अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने के लिए है.

सरकार ने न्यायमूर्ति श्री पिनाकी चंद्र घोष को लोकपाल का पहला अध्यक्ष नियुक्त किया, जिन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा 23 मार्च, 2019 को शपथ दिलाई गई थी. सरकार ने चार न्यायिक और चार गैर-न्यायिक सदस्य भी नियुक्त किए हैं. इसका कार्यालय अस्थायी रूप से नई दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित होटल अशोक में है.

PIB की एक रिलीज़ के अनुसार, शिकायतों को प्राप्त करने के प्रारूप सहित नियमों और विनियमों को अधिसूचित करने की प्रक्रिया विकसित की जा रही है. 16 अप्रैल, 2019 तक प्राप्त सभी शिकायतों की लोकपाल कार्यालय द्वारा जांच उसे निपटाया गया. इसके बाद प्राप्त शिकायतों की जांच की जारी है.