हैदराबाद (Hyderabad): शादनगर शहर के बाहरी इलाके में गुरुवार सुबह एक 26 वर्षीय पशु चिकित्सक का शव मिला. डॉ प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy), जो बुधवार देर रात लापता हो गई थी, उनका शव हैदराबाद-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक पुलिया के नीचे मिला. प्रियंका की गुमशुदगी की रिपोर्ट शमशाबाद पुलिस स्टेशन में  दर्ज की गई थी.

पुलिस के अनुसार, गुरुवार सुबह राहगीरों ने चटनपल्ली गांव के पास एक पुलिया के नीचे एक महिला के जले हुए शव को देखा. सूचना मिलते ही सुराग लगाने वाली टीम और एक डॉग स्क्वायड के साथ पुलिस घटनास्थल पर पहुंची.

जिसके बाद शव की पहचान के लिए पड़ोसी पुलिस थानों को अलर्ट किया गया. चूंकि शमशाबाद पुलिस स्टेशन में प्रियंका की गुमशुदगी का मामला दर्ज किया गया था, इसलिए पुलिस ने प्रियंका के परिवार को सूचित किया जो मौके पर पहुंचे. कपड़ों और गले में लोकेट की मदद से उसकी पहचान की पुष्टि की गयी.

पुलिस ने बताया कि प्रियंका रेड्डी शमशाबाद में दुपहिया वाहन पंचर होने के कारण फस गयी थीं. प्रियंका ने अपनी बहन भाव्या को फोन पर इस घटना के बारे में जानकारी दी थी. उसकी बहन भाव्या ने कहा कि प्रियंका ने उसे शाम करीब 9.15 बजे फोन किया था. उसने यह भी कहा कि प्रियंका ने कहा था कि किसी ने उसे पंक्चर टायर की मरम्मत के लिए लिफ्ट की पेशकश की थी.

भाव्या ने पुलिस को यह भी बताया कि प्रियंका ने उन्हें सूचित कर बताया कि वह डरी हुई महसूस कर रही थी क्योंकि वह एक ऐसे स्थान पर फंसी हुई थी जहाँ बहुत सारे अंजान आदमी और ट्रक चालक खड़े थे.

“हम इलाके से सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रहे हैं. जले हुए शव के बारे में गुरुवार सुबह 7:30 बजे पुलिस को सूचना दी गई थी. हमें शक है कि उसे मिट्टी के तेल से जलाया गया है” शमशाबाद के डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा.

पुलिस ने उन लोगों को ट्रैक करने के लिए 10 टीमों का गठन किया है, जिन्होंने प्रियंका को फंसाया और मार डाला. उसका वाहन अभी तक नहीं मिला है और इससे पुलिस को अहम सुराग मिल सकते हैं.