Babri Masjid: बाबरी मस्जिद जितनी ही बड़ी बनेगी नई मस्जिद, साथ में अस्पताल, पुस्तकालय और एक संग्रहालय

Babri Masjid का निर्माण 15,000 वर्ग फीट में होगा, जबकि बाकी की ज़मीन पर हॉस्पिटल और भारत-इस्लामिक रिसर्च केंद्र जैसी सुविधाओं के लिए होगा.

babri masjid ayodhya kholdoradio

Babri Masjid: राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद अयोध्या (Ayodhya) में बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) के बराबर की ही एक नई मस्जिद बनाई जाएगी. इसके निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट के एक पदाधिकारी ने बताया.

उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या के धन्नीपुर गाँव में पाँच एकड़ ज़मीन आवंटित किया है.

अयोध्या के धनीपुर गांव में पांच एकड़ की ज़मीन पर एक अस्पताल (Hospital), एक पुस्तकालय (Library) और एक संग्रहालय (Museum) का निर्माण भी होगा. कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि सेवानिवृत्त प्रोफेसर और विख्यात खाद्य आलोचक पुष्पेश पंत संग्रहालय के सलाहकार होंगे.

उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Sunni Central Waqf Board) ने पांच एकड़ के भूखंड पर मस्जिद के निर्माण के लिए एक ट्रस्ट, इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (IIFC) का गठन किया है.

भारत-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (Indo-Islamic Cultural Foundation, IICF) के सचिव और प्रवक्ता, अतहर हुसैन ने शनिवार को पीटीआई (PTI) से बातचीत में बताया, मस्जिद का निर्माण 15,000 वर्ग फीट में होगा, जबकि बाकी की ज़मीन पर हॉस्पिटल और भारत-इस्लामिक रिसर्च केंद्र जैसी सुविधाओं के लिए होगा.

हुसैन ने बताया कि जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के प्रोफेसर एस एम अख्तर (S M Akhtar) परियोजना के सलाहकार वास्तुकार (consultant architect) होंगे.

जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में वास्तुकला विभाग के प्रमुख अख्तर ने पीटीआई को बताया कि मस्जिद का निर्माण “भारत के लोकाचार और इस्लाम की भावना को एक साथ लाएगा”.

बता दें कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद 6 दिसंबर, 1992 को ‘कारसेवकों’ द्वारा ध्वस्त कर दी गई थी, दावा किया गया था कि एक प्राचीन राम मंदिर उसी स्थान पर था.

5 अगस्त को राम मंदिर का निर्माण शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ‘भूमि पूजन’ समारोह में भाग लिया था.

एक लंबी कानूनी लड़ाई के बाद, सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने पिछले साल 9 नवंबर को अयोध्या में विवादित स्थल पर एक राम मंदिर निर्माण के पक्ष में फैसला सुनाया था और केंद्र को सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ का एक वैकल्पिक भूखंड आवंटित करने का निर्देश दिया था.

Read also: FAUG Game: अब PUBG को टक्कर देगा देसी FAUG