जानिए 29 फरवरी के बाद क्या होगा Paytm का? UPI और Fastag इस्तेमाल में रहेगा या होगा बेकार

आरबीआई (RBI) ने 11 मार्च 2022 को ही बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट 1949 के सेक्शन 35A के तहत Paytm Payments Bank को नए कस्टमर ना बनाने का आदेश दिया था।

जानिए 29 फरवरी के बाद क्या होगा Paytm का? UPI और Fastag इस्तेमाल में रहेगा या होगा बेकार
जानिए 29 फरवरी के बाद क्या होगा Paytm का? UPI और Fastag इस्तेमाल में रहेगा या होगा बेकार

PAYTM PAYMENTS BANK UPI FASTAG KA 29 FEBRUARY KE BAAD KYA HOGA: इस वक्त देश के हर गली मोहल्ले में सिर्फ दो चीज़ों की चर्चा है। पहला लोक सभा चुनाव। दुसरा Paytm ऐप। तो लोक सभा चुनाव में अभी वक्त है, इसलिए फिलहाल बात करेंगे Paytm की। जैसा कि सभी को मालूम है कि आरबीआई (RBI) ने Paytm Payments Bank पर नकेल कसते हुए 29 फ़रवरी के बाद डिपॉज़िट या टॉप अप पर फिलहाल के लिए रोक लगाने का आदेश दिया है।

अब सोशल मीडिया के इस अफवाहों वाले मोहल्ले में ये चर्चा है कि, रिज़र्व बैंक Paytm ऐप पर ही रोक लगाने वाला है। क्या है पूरा माजरा, आइए आगे आपको पॉइंटर्स में टू दा पॉइंट समझाते हैं।

रोक Paytm पर लगेगी या Paytm Payments Bank पर?

देखिए सबसे पहले ये बताना ज़रूरी है कि Paytm Payments Bank और Paytm में फ़र्क क्या है। Paytm पेमेंट करने और फाइनैन्शल सर्विस देने वाला प्लेटफॉर्म है। जिसकी पेरन्ट कंपनी है One97 Communications Ltd। Paytm Payments Bank One97 Communications Ltd का सहयोगी बैंक है।

Paytm Payments Bank पर सिर्फ कार्रवाई होगी, UPI और Fastag पर नहीं।
Paytm Payments Bank पर सिर्फ कार्रवाई होगी, UPI और Fastag पर नहीं।

इसे ऐसे समझिए कि One97 Communications Ltd एक फैक्ट्री है और इसके दो प्रोडक्ट हैं, जिसमे से एक है Paytm और एक है Paytm Payments Bank। तो RBI ने 29 फ़रवरी तक जो मोहलत दी है वो Paytm Payments Bank को दी है ना कि Paytm को। ऐसे में ये कहना एकदम गलत है कि 29 फ़रवरी के बाद पेटीएम बंद हो जाएगा।

Paytm Payments Bank पर नकेल कसने की वजह: 

RBI ने संदिग्ध लेन देन के चलते और उसके द्वारा तय नियमों का पालन न करने पर पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर नकेल कसी है। आरबीआई (RBI) ने 11 मार्च 2022 को ही बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट 1949 के सेक्शन 35A के तहत Paytm Payments Bank को नए कस्टमर ना बनाने का आदेश दिया था। अब रिज़र्व बैंक के निर्देश के मुताबिक, पेटीएम पेमेंट्स बैंक के कस्टमर 29 फ़रवरी के बाद अपने अकाउंट, वॉलेट और फास्टटैग में कोई नई राशि जमा नहीं कर सकेंगे।

29 फ़रवरी तक कस्टमर Paytm Payments Bank से लेन देन कर सकते हैं। लेकिन इसके बाद वो ना तो अपने पेटीएम पेमेंट्स बैंक से जुड़े किसी भी खाते में कुछ डिपॉज़िट कर सकेंगे और न ही टॉप अप। हालांकि अगर उनके खाते में 29 फ़रवरी के बाद भी कुछ बैलेंस बचा रहता है। तो भी वो उसे आराम से इस्तेमाल कर सकते हैं। उनक पैसा बिल्कुल सेफ रहेगा। साथ ही इसके ज़रिए मिलने वाला इंटरेस्ट और कैशबैक भी बिना किसी दिक्कत के क्रेडिट होता रहेगा।

Paytm UPI, QR और साउन्ड बॉक्स का क्या होगा?

सवाल उठना जायज़ है कि क्या Paytm UPI, QR, साउन्ड बॉक्स और टिकट बुकिंग जैसी सेवाएं जारी रहेंगी या नहीं। तो आपको बता दें कि जो भी सख्ती बरती जा रही है, वो सिर्फ पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर की जा रही है। इससे ये साफ है कि पेटीएम UPI, QR, मर्चन्ट साउन्ड बॉक्स, टिकट बुकिंग, कुल मिलाकर पूरी पेटीएम ऐप 29 फ़रवरी के बाद भी पहले के तरह ही चालू रहेगी। खुद पेटीएम ने भी इस बात को कन्फर्म किया है।

Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।
Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।
Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।
Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।
Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।
Paytm ने खुद कन्फर्म किया है कि उसकी ऐप पहले के तरह ही चालू रहेगी।

ये भी पढ़ें: SEO क्या है, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के प्रकार और फायदे