Global Hunger Index 2021 : नेपाल और पाकिस्तान से भी पीछे भारत, 116 देशों में प्राप्त किया 101वां स्थान
Global Hunger Index 2021 : नेपाल और पाकिस्तान से भी पीछे भारत, 116 देशों में प्राप्त किया 101वां स्थान।

वैश्विक भुखमरी सूचकांक 2021 (Global Hunger Index 2021) में भारत का स्थान काफी नीचे चल गया है। भारत की यह रैंकिंग काफी चिंताजनक है क्यूंकी 116 देशों के वैश्विक भुखमरी सूचकांक (जीएचआई) 2021 में फिसलकर भारत 101वें स्थान पर आ गया है।

पिछले वर्ष यानि GHI 2020 में भारत का स्थान 107 देशों में 94 था। भूख और कुपोषण पर नजर रखने वाली वैश्विक भुखमरी सूचकांक की वेबसाइट पर गुरुवार को बताया गया कि चीन, ब्राजील और कुवैत सहित अठारह देशों ने पांच से कम के जीएचआई स्कोर के साथ शीर्ष स्थान साझा किया है।

आयरिश सहायता एजेंसी कंसर्न वर्ल्डवाइड और जर्मन संगठन वेल्ट हंगर हिल्फ़ द्वारा संयुक्त रूप से तैयार की गई रिपोर्ट में भारत में भूख के स्तर को “खतरनाक” बताया गया है। भारत का GHI स्कोर भी गिर गया है जो की 2000 में 38.8 था फिर 2012 से 2021 के बीच 28.8 – 27.5 के बीच रहा।

किस आधार पर होती है GHI स्कोर की गढ़ना:

GHI स्कोर की गणना चार संकेतकों पर की जाती है :– अल्पपोषण; चाइल्ड वेस्टिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चों का हिस्सा जो बर्बाद हो गए हैं यानी जिनका वजन उनकी ऊंचाई के लिए कम है, तीव्र कुपोषण को दर्शाता है); बाल स्टंटिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनकी उम्र के हिसाब से लंबाई कम है, जो लंबे समय से कुपोषण को दर्शाता है) और बाल मृत्यु दर (पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर)।

रिपोर्ट के अनुसार, पड़ोसी देश जैसे नेपाल (76), बांग्लादेश (76), म्यांमार (71) और पाकिस्तान (92) भी भुखमरी को लेकर चिंताजनक स्थिति में हैं, लेकिन भारत की तुलना में अपने नागरिकों को भोजन उपलब्ध कराने को लेकर बेहतर प्रदर्शन किया है।  हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने अन्य संकेतकों में सुधार दिखाया है जैसे कि अंडर -5 मृत्यु दर, बच्चों में स्टंटिंग की व्यापकता और अपर्याप्त भोजन के कारण अल्पपोषण की व्यापकता। 

faraz
Faraaz
Journalism Student | iamfhkhan@gmail.com | + posts

Faraaz is pursuing Mass Communication & Journalism from BBD University Lucknow.