Pic Credits: PTI

मां हमेशा अपने बच्चों की हर ख्वाहिशों का ख्याल रखती है और बदले में कुछ नहीं मांगती. मदर्स डे, यानी वह दिन जब बच्चे अपनी माँ को उसके ख़ास होने का एहसास दिलाते हैं.

इस दिन लोग अपनी माँ को तोहफे देते हैं. कार्ड्स और फूल भी देते हैं. और केक काट कर अपनी माँ को यह जताते हैं कि उनकी माँ उनके लिए कितनी ख़ास है.

सोशल मीडिया के ज़माने में बच्चे अपनी माँ के साथ सेल्फी लेते हैं. अपनी पुरानी फोटो और यादों को सोशल मीडिया मंच पर सबके साथ सांझा करते हैं.

यह दिन मातृत्व का आदर-सम्मान करने, समाज के उत्थान में माँ की भूमिका को स्वीकार करने के लिए मनाया जाता है.

इस वर्ष, मदर्स डे 12 मई को अधिकांश देशों में मनाया जा रहा है.

ज्यादातर देशों में, मदर्स डे हर साल मई के दूसरे सनडे को मनाया जाता है, इनमें भारत, यूएसए, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड, चीन, जापान, फिलीपींस और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं.

अरब देशों में, मदर्स डे 21 मार्च को मनाया जाता है, जबकि पूर्वी यूरोपीय देशों में, यह 8 मार्च को मनाया जाता है.

यूनाइटेड किंगडम और आयरलैंड में, मदर्स डे को लेंट में चौथे रविवार को मनाया जाता है.

कितनी ख़ास है आपकी माँ, इन संदेशो के ज़रिए कराएं एहसास-

“चलती फिरती हुई आँखों से अज़ाँ देखी है
मैं ने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है.”

 

“लबो पर उसके कभी बददुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो कभी खफा नहीं होती.”

 

“अभी ज़िंदा है माँ मेरी मुझे कुछ भी नहीं होगा
मैं जब घर से निकलता हूँ दुआ भी साथ चलती है.”

 

“हर रिश्ते में मिलावट देखी,
कच्चे रंगों की सजावट देखी,
लेकिन सालों साल देखा है माँ को…
उसके चेहरे पे न कभी थकावट देखी…
न ममता में कभी मिलावट देखी.”

 

“जब एक रोटी के चार टुकड़े हों और खाने वाले पाँच..
तब मुझे भूख नहीं है ऐसा कहने वाली इंसान है – माँ.”

 

“मैं रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों,
“सुबह आँख खुली तो देखा” मेरा सर माँ के कदमों में था.”

 

“किसी का दिल तोडना आज तक नही आया मुझे,
प्यार करना जो अपनी ‪माँ‬ से सीखा है मेने.”

 

“मत कहिये की मेरे साथ रहती हैं माँ
कहिए की माँ के साथ हम रहते हैं.”

 

“मां के बिना जिंदगी वीरान होती है
तन्हा सफर में हर राह सुनसान होती है
जिंदगी में मां का होना जरूरी है
मां की दुआओं से ही हर मुश्किल आसान होती है.”

 

“उसके रहते जीवन में कोई गम नहीं होता,
दुनिया साथ दे ना दे पर मां का प्यार कभी कम नहीं होता.”