सांसदी बहाल होने के बाद क्या होंगे Rahul Gandhi के अगले कदम?
सांसदी बहाल होने के बाद क्या होंगे Rahul Gandhi के अगले कदम?

Future Steps of Rahul Gandhi After Supreme Court Verdict: शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मानहानि केस में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को बड़ी राहत दी है. मोदी (Modi) सरनेम केस में निचली अदालतों ने पूर्व कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष को 2 साल से ज़्यादा की सजा सुनाई थी. जिसके बाद उन्हें सांसद के तौर पर अयोग्य घोषित किया गया था. अब उच्च न्यायलय ने राहुल गांधी की सज़ा पर रोक लगा दी है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के इस फैसले ने उनकी सज़ा पर सिर्फ रोक लगाई है. मानहानि के आरोपों से बरी नहीं किया है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के मुताबिक, जब तक इस केस की सुनवाई पूरी नहीं होती. तब तक राहुल गांधी की सज़ा पर रोक रहेगी. केस का अंतिम परिणाम आगे की सुनवाई में तय होगा. लेकिन अगली सुनवाई की तारीख अभी नहीं बताई गयी है. फिलहाल तो राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की सांसदी बहाल होने पर कांग्रेस (Congress) पार्टी में ख़ुशी कि लहर है. पार्टी के सभी नेता कार्यकर्ता इसे अन्याय पर सत्य की जीत बता रहे हैं. शाम को हुई प्रेस कांफ्रेंस में खुद राहुल गांधी ने कहा-

“आज नहीं तो कल, सच्चाई की जीत होती है”.

अब राजनितिक गलियारों में इस बात की चर्चा है कि सांसद पद वापस मिलने के बाद राहुल किस रूप में दिखाई देंगे. चूंकि लोक सभा चुनाव में ज्यादा वक्त बचा नहीं है. ऐसे में सवाल ये है कि माननीय का ओहदा वापस मिलने पर, उनके अगले कदम क्या हो सकते हैं?

चलिए एक-एक कर इन क़दमों पर रौशनी डालते हैं…..

I.N.D.I.A. का चेहरा बन सकते हैं राहुल गांधी (Rahul Gandhi):

सभी अटकलों के बीच सबसे बड़ी अटकल ये है कि राहुल गांधी विपक्षी गठबंधन इंडिया (I.N.D.I.A.) के मुख्य चेहरा बनकर उभर सकते हैं. 2024 लोक सभा चुनाव के लिए बने 26 पार्टियों के इस गठबंधन ने अभी तक अपना पीएम उम्मेदवार या मुख्य चेहरा घोषित नहीं किया है. अब आप सोच रहे होंगे कि सभी दल राहुल को ही गठबंधन का चेहरा क्यों घोषित करें या कर सकते हैं?  ऐसा इसलिए क्योंकि इस गठबंधन में जितने भी दलों के राष्ट्रिय अध्यक्ष या नेता हैं, ज़्यादातर क्षेत्रीय राजनीति तक ही सीमित हैं.

26 विपक्षी दलों के समूह I.N.D.I.A. की बैंगलोर बैठक की तस्वीर
26 विपक्षी दलों के समूह I.N.D.I.A. की बैंगलोर बैठक की तस्वीर

नेशनल लेवल पर ब्रांड मोदी और बीजेपी की कांट फिलहाल किसी चेहरे में नहीं झलकती. भारत एक बहुत ही बड़ा देश है. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को भले ही कुछ लोग नेगेटिव तौर पर जानते हों. लेकिन उनका चेहरा देश के हर कोने में पहचाना जाता है. अन्य विपक्षी पार्टियां भी ये बात समझती हैं. जिस वजह से अब विपक्षी गठबंधन का चेहरा बनने की उत्सुकता कोई नेता नहीं दिखा रहा. जबकि राहुल इस गठबंधन की अगुवाई करने में ख़ास रूचि दिखा रहे हैं. इसका अंदाज़ा इसी बात से लगा सकते हैं कि शुक्रवार को सदस्यता बहाल होने के बाद वो RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से उनके दिल्ली आवास पर मिलने भी पहुंचे.

राहुल का I.N.D.I.A. गठबंधन का चेहरा बनने की एक और वजह नज़र आ रही है. वो है भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) से मिली पॉपुलैरिटी. इसमें कोई शक नहीं कि यात्रा के बाद उनकी पॉपुलैरिटी में ज़बरदस्त उछाल हुआ है. अब जब उनकी संसद सदस्यता बहाल है, तो अन्य विपक्षी नेता उन्हें गठबंधन का चेहरा ना बनाने का कोई बहाना भी नहीं बना सकते.

I.N.D.I.A. गठबंधन के कई नेताओं ने राहुल गांधी के केस पर आए फैसले पर ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी है. उनमे से कुछ ट्वीट आप नीचे पढ़ सकते हैं:

बिहार के डिप्टी सीएम तेजश्वी यादव ने राहुल गांधी के मानहानि केस के फैसले पर ट्वीट किया:

दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने राहुल की संसद बहाली पर ट्वीट किया:

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी इस फैसले पर सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद किया:

भारत जोड़ो यात्रा 2.0 (Bharat Jodo Yatra) का हो सकता है आगाज़:

चर्चा ये भी है कि अब संसद बहाली होने के बाद, राहुल गांधी (Bharat Jodo Yatra 2.0) भारत जोड़ो यात्रा 2.0 का अगला फेज शुरू कर सकते हैं. कुछ दिन पहले ऐसी ख़बरें ज़ोर पकड़ रहीं थी लेकिन आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं बोला गया. अभी भी ये सिर्फ ये अटकलों के दौर में हैं.

राहुल गांधी को भारत जोड़ो यात्रा में अच्छा सपोर्ट मिला था
राहुल गांधी को भारत जोड़ो यात्रा में अच्छा सपोर्ट मिला था

बताया जा रहा है कि भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) 2.0 में राहुल (Rahul Gandhi) उन जगहों का दौरा करेंगे जो पिछले पार्ट में छूट गयीं थी, या फिर जहां यात्रा कम वक्त के लिए ही हुई थी. इसमें सबसे ऊपर उत्तर प्रदेश है. यहां की लोक सभा की 80 सीटें सरकार बनाने में अहम किरदार निभाती हैं. ऐसे में सम्भावना है राहुल अब भारत जोड़ो यात्रा 2.0 के रोड मैप पर काम करना शुरू करेंगे.

संसद में सरकार को आड़े हाथों ले सकते हैं राहुल गाँधी:

राहुल गांधी अब सांसद तो हैं. लेकिन अभी वो संसद के मौजूदा सत्र में हिस्सा लेंगे या नहीं, ये वक्त बताएगा. फ़िलहाल तो सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपना फैसला सुना दिया है. संसद में उनकी वापसी तब होगी जब लोक सभा सचिवालय अधिसूचना जारी करेगा. इसमें कुछ दिन या कुछ महीने भी लग सकते हैं. लेकिन उम्मीद है कि ये काम जल्द ही होगा क्योंकि लोक सभा चुनाव में अब वक्त कम है.

अगर मानसून सत्र में राहुल गांधी संसद में वापसी करते हैं. तो ये तय है कि वो सत्ता पक्ष को कई मुद्दों पर आड़े हाथों ले सकते हैं. इसका हिंट कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को नीचे दिए गए ट्वीट के ज़रिये दे दिया है.

गुंजाईश पूरी है की राहुल संसद में केंद्र सरकार पर मणिपुर हिंसा, महंगाई और ED-CBI पर खुलकर सवाल उठाएंगे. जिससे संसद का माहौल गर्म होना तय है.


ये भी पढ़ें: Gadar 2 Trailer Out: इस बार परिवार के लिए पाकिस्तान में गदर मचाएंगे Sunny Deol

faraz
Faraaz
Journalism Student | iamfhkhan@gmail.com | + posts

Faraaz is pursuing PG Diploma in TV Journalism from Jamia Millia Islamia, New Delhi.