स्वराज इंडिया का घोषणा पत्र जारी; रोज़गार, शिक्षा और कृषि प्राथमिकता पर

यादव ने कहा, बेरोजगारी राज्‍य की सबसे बड़ी समस्‍या है, लेकिन अब तक किसी भी पार्टी ने इसके समाधान के लिए कोई योजना नहीं बनायी है.

हरियाणा में स्‍वराज इंडिया पार्टी पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने जा रही है. स्‍वराज इंडिया ने राज्‍य विधानसभा की 90 सीटों में से 43 सीटों पर अपने उम्‍मीदवार खड़े किए है. पार्टी ने शनिवार को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया.

पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष योगेंद्र यादव ने चण्‍डीगढ़ में ईमान-पत्र नाम का घोषणा पत्र जारी करते हुए राज्‍य में 20 हजार करोड़ रुपये की लागत से रोजगार के 20 लाख अवसर पैदा करने का वादा किया.

यादव ने कहा, बेरोजगारी राज्‍य की सबसे बड़ी समस्‍या है, लेकिन अब तक किसी भी पार्टी ने इसके समाधान के लिए कोई योजना नहीं बनायी है.

उन्‍होंने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा में 20 लाख लोग बेरोजगार हैं और इस समस्‍या के समाधान के लिए पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में सात मिशन बनाने की बात कही है. जिसके अनुसार इन उपायों से 73 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.

पार्टी ने शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और उद्योग जैसे कई क्षेत्रों में रोजगार का वादा किया है.

शिक्षा प्रणाली में सुधार की आवश्‍यकता पर जोर देते हुए पार्टी ने गांवों में 3 से 6-वर्ष तक के बच्‍चों की शिक्षा के लिए नर्सरी अध्‍यापकों की नियुक्ति की बात कही है.

पार्टी ने गेहूं, धान और बाजरा जैसी प्रमुख फसलों का समर्थन मूल्‍य बढ़ाने और स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के विस्‍तार का भी वादा किया. घोषणा पत्र में कृषि क्षेत्र के लिए अलग बजट बनाने की बात भी की गई.

पार्टी ने सरकार की आमदनी बढ़ाने के लिए शहरी इलाकों में खाली भूखण्‍डों पर टैक्‍स लगाने और भ्रष्‍टाचार की रोकथाम का भी प्रस्‍ताव किया है.